Monday, May 27, 2024
spot_img
HomeBlogSodium ion Vs Lithium ion Battery: क्या सोडियम-आयन लिथियम-आयन को पछाड़ देगी,...

Sodium ion Vs Lithium ion Battery[2024]: क्या सोडियम-आयन लिथियम-आयन को पछाड़ देगी, आखिर भविष्य का नया राजा कौन?

Sodium ion Vs Lithium ion battery:

सोडियम-आयन बैटरी एक आशाजनक विकल्प है। दोनों प्रकार की बैटरी विद्युत ऊर्जा को स्टोर करने और स्थानांतरित करने के लिए एक तरल इलेक्ट्रोलाइट का उपयोग करती हैं, लेकिन वे जिन आयनों का उपयोग करते हैं, उनमें भिन्नता होती है।

Sodium ion Vs Lithium ion battery घटकों की जांच से पता चलता है कि कैथोड सामग्री की प्रकृति दोनों बैटरियों के बीच मुख्य अंतर है। चूंकि कच्चे माल से कैथोड तैयार करने की लागत दोनों प्रकार की बैटरी तकनीकों के लिए समान है, इसलिए सोडियम-आयन बैटरी के लिए मुख्य लागत बचत कच्चे माल से होती है।

सोडियम-आयन बैटरी के कई फायदों के कारण, ऊर्जा उद्योग के बड़े खिलाड़ी इस तकनीक को हासिल करने और विकसित करने में निवेश कर रहे हैं। उदाहरण के लिए, यूके में एक बैटरी तकनीक कंपनी और Na-ion बैटरी ने  Faradion को हाल ही में Reliance Industries की एक सहायक कंपनी, Reliance New Energy Solar द्वारा 135 मिलियन डॉलर में अधिग्रहित किया गया था।

sodium ion vs lithium ion battery
LI ion battery (Image credit to social media)

Sodium ion Vs Lithium ion battery:-

Sodium ion Vs Lithium ion battery के निम्नलिखित अंतर है :-

विशेषता लिथियम-आयन बैटरी सोडियम-आयन बैटरी
आयन प्रकार लिथियम आयन (Li+) सोडियम आयन (Na+)
कैथोड सामग्री महंगे धातु जैसे कोबाल्ट और निकल सस्ता और प्रचुर मात्रा में पाए जाने वाले लोहा और मैंगनीज
लागत उच्च लागत कम लागत (संभावित रूप से)
ऊर्जा घनत्व उच्च ऊर्जा घनत्व कम ऊर्जा घनत्व (फिलहाल)
चक्र जीवन 8,000-10,000 बार 5,000 बार (फिलहाल)
सुरक्षा कम स्थिर, आग लगने का जोखिम अधिक स्थिर, आग लगने का कम जोखिम
टिकाऊपन लिथियम सीमित संसाधन है सोडियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है
विकास की स्थिति परिपक्व तकनीक प्रारंभिक विकास चरण

 

Lithium ion battery के फायदे:

ऊर्जा का भंडार: लिथियम आयन बैटरी अपने छोटे आकार में ज्यादा ऊर्जा पैक कर सकती है। इसका मतलब है कि इलेक्ट्रिक गाड़ियां एक बार चार्ज होने पर ज्यादा दूरी तय कर सकती हैं।

तेज चार्जिंग: लिथियम आयन बैटरी जल्दी चार्ज हो जाती हैं, जिससे इलेक्ट्रिक गाड़ियों को चलाने में ज्यादा सुविधा होती है।

बेहतर परफॉर्मेंस: लिथियम आयन बैटरी ठंड और गर्म दोनों तरह के मौसम में अच्छी तरह से काम करती हैं। साथ ही, ये तेज रफ्तार पकड़ने में भी सक्षम हैं।

Lithium ion battery के नुकसान:

lithium ion battery disadvantages
LI ion battery (Image credit to youtube)

उच्च लागत: लिथियम एक दुर्लभ तत्व है, जिससे लिथियम आयन बैटरी की कीमत काफी ज्यादा होती है।

सीमित भंडार: लिथियम के भंडार सीमित हैं, जिससे भविष्य में इसकी कीमत और बढ़ने की आशंका है।
पर्यावरणीय चिंताएं: लिथियम का खनन और बैटरी का उत्पादन पर्यावरण पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है।

sodium ion battery companies
lithium-ion-vs-sodium-ion-battery (image credit to social media)

Advantages of Sodium ion Battery:

  • कम लागत: सोडियम एक आम तत्व है, जिससे सोडियम आयन बैटरी की कीमत लिथियम आयन बैटरी की तुलना में काफी कम होती है।
  • अधिक उपलब्धता: सोडियम आसानी से उपलब्ध है, जिससे सोडियम आयन बैटरी का उत्पादन बढ़ाना आसान है।
  • पर्यावरण अनुकूल: सोडियम आयन बैटरी का उत्पादन लिथियम आयन बैटरी के उत्पादन की तुलना में पर्यावरण के लिए कम हानिकारक है।
  • सुरक्षा: सोडियम-आयन बैटरी आमतौर पर अधिक सुरक्षित होती हैं क्योंकि वे लिथियम-आयन बैटरी की तुलना में कम ज्वलनशील होती हैं।

Sodium ion Battery disadvantages:

  • कम ऊर्जा घनत्व: सोडियम आयन बैटरी अपने आकार में लिथियम आयन बैटरी से कम ऊर्जा पैक कर सकती हैं. इसका मतलब है कि इलेक्ट्रिक गाड़ियां एक बार चार्ज होने पर कम दूरी तय कर सकती हैं.
  • धीमी चार्जिंग: सोडियम आयन बैटरी लिथियम आयन बैटरी की तुलना में धीमी गति से चार्ज होती हैं.
  • ठंड के मौसम में कम प्रदर्शन: सोडियम आयन बैटरी ठंड के मौसम में लिथियम आयन बैटरी की तुलना में कम कुशलता से काम करती हैं.

Sodium ion Vs Lithium ion battery: Sodium ion बैटरी की चुनौतियां:

  • प्रारंभिक विकास: सोडियम-आयन बैटरी तकनीक अभी भी अपने शुरुआती दौर में है और इसमें सुधार की आवश्यकता है।
  • कम ऊर्जा घनत्व और चक्र जीवन: अभी तक ये दोनों पहलू लिथियम-आयन बैटरी से कम हैं।
  • आपूर्ति श्रृंखला: सोडियम-आयन बैटरी के लिए अभी तक एक सुव्यवस्थित आपूर्ति श्रृंखला नहीं है।

Sodium ion Battery का भविष्य :

सोडियम आयन बैटरी को इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए एक संभावित विकल्प के रूप में देखा जाता है। वे लिथियम आयन बैटरी की तुलना में कम लागत वाली, अधिक सुरक्षित और ठंडे मौसम में बेहतर प्रदर्शन करने वाली हो सकती हैं।

Sodium ion battery companies in India:

Sodium ion battery companies in India: भारत में कई कंपनियां हैं जो सोडियम-आयन बैटरी तकनीक में अग्रणी भूमिका निभा रही हैं:

  • फाराडियन इंडिया: यूके की मूल कंपनी Faradion की भारतीय शाखा, सोडियम-आयन बैटरी के लिए अत्याधुनिक तकनीक विकसित कर रही है। Reliance Industries ने हाल ही में Faradion India का अधिग्रहण किया है, जिससे इस क्षेत्र में भारत का कद बढ़ा है।
  • आइआइटी मद्रास: इस प्रतिष्ठित संस्थान ने सोडियम-आयन बैटरी के लिए कम लागत वाली तकनीक विकसित की है। यह तकनीक इलेक्ट्रिक वाहनों और ग्रामीण विद्युतीकरण के लिए बहुत उपयोगी साबित हो सकती है।
  • पुणे स्थित स्टार्ट-अप: कई स्टार्ट-अप, जैसे कि Exicom Power Systems और Log9 Materials, सोडियम-आयन बैटरी के क्षेत्र में नवाचार कर रहे हैं। ये कंपनियां भविष्य में इस क्षेत्र का चेहरा बदल सकती हैं।
Sodium ion battery companies.
sodium ion battery (imagev credit to navbharat-times)

Sodium ion Vs Lithium ion battery: सोडियम-आयन बैटरी की दौड़ में दुनिया के 8 शीर्ष खिलाड़ी: भारत भी शामिल!

Sodium ion battery companies:

Sodium ion battery companies: लिथियम-आयन बैटरी के वर्चस्व के युग में, एक नया प्रतियोगी उभर रहा है – सोडियम-आयन बैटरी। ये पर्यावरण के अनुकूल, सस्ती और टिकाऊ विकल्प भविष्य की ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने का वादा करते हैं। आइए दुनिया भर की 8 शीर्ष कंपनियों पर एक नज़र डालें, जो सोडियम-आयन क्रांति का नेतृत्व कर रही हैं:

1. Faradion (यूके/भारत): भारत में Reliance Industries द्वारा हाल ही में अधिग्रहित, Faradion अत्याधुनिक सोडियम-आयन कैथोड सामग्री विकसित करती है। भारत और यूके में इसके संचालन इसे वैश्विक बाजार में एक प्रमुख खिलाड़ी बनाते हैं।

2. CATL (चीन): दुनिया का सबसे बड़ा बैटरी निर्माता, CATL ने सोडियम-आयन तकनीक में भारी निवेश किया है। उनकी व्यापक पहुंच और अनुभव उन्हें इस क्षेत्र में एक शक्तिशाली प्रतियोगी बनाते हैं।

3. HiNa Battery Technology (चीन): सोडियम-आयन बैटरी के लिए हाई-परफॉर्मेंस कैथोड सामग्री विकसित करने में अग्रणी, HiNa ने हाल ही में दुनिया का पहला सोडियम-आयन बैटरी-चालित इलेक्ट्रिक वाहन लॉन्च किया।

4. Natron Energy (यूएस): सोडियम-आयन बैटरी के लिए एक्स्ट्रूडेड कैथोड विकसित करने पर ध्यान केंद्रित, Natron उच्च ऊर्जा घनत्व और चक्र जीवन का दावा करता है। उनकी तकनीक ग्रिड भंडारण और वाणिज्यिक वाहनों के लिए उपयुक्त है।

5. SolidEnergy (यूएस): सॉलिड-स्टेट सोडियम-आयन बैटरी पर ध्यान केंद्रित करने वाली एक अनूठी कंपनी, SolidEnergy सुरक्षा, प्रदर्शन और चक्र जीवन में सुधार का वादा करती है। उनकी तकनीक चिकित्सा उपकरणों और उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स के लिए आदर्श हो सकती है।

6. Tiamat (फ्रांस): सोडियम क्लोराइड से सोडियम धातु निकालने के लिए एक नवीन प्रक्रिया विकसित करने वाली कंपनी, Tiamat धातु की आपूर्ति श्रृंखला में स्थिरता और लागत-प्रभावशीलता लाने का लक्ष्य रखती है।

7. Forschergruppe BattOrm (जर्मनी): जर्मनी के Helmholtz Zentrum Berlin का एक शोध समूह, BattOrm कम लागत वाली सोडियम-आयन बैटरी के लिए सुरक्षित और टिकाऊ इलेक्ट्रोलाइट विकसित कर रहा है। उनका काम व्यापक वाणिज्यिक अनुप्रयोगों का मार्ग प्रशस्त कर सकता है।

8. IIT मद्रास (भारत): भारत में सोडियम-आयन बैटरी अनुसंधान का नेतृत्व करते हुए, IIT मद्रास ने कम लागत वाली तकनीक विकसित की है जो इलेक्ट्रिक वाहनों और ग्रामीण विद्युतीकरण में क्रांति ला सकती है।

ये सिर्फ कुछ उदाहरण हैं – वैश्विक स्तर पर कई अन्य कंपनियां सोडियम-आयन क्रांति में शामिल हो रही हैं। भारत, अपनी महत्वाकांक्षी इलेक्ट्रिक वाहन लक्ष्यों के साथ, इस क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।

Sodium ion Vs Lithium ion battery निष्कर्ष :

Sodium ion Vs Lithium ion battery : सोडियम-आयन बैटरी इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए एक संभावित विकल्प है। वे कम लागत वाली, अधिक उपलब्ध और ठंड के मौसम में बेहतर प्रदर्शन करने वाली होती हैं।

तो, क्या सोडियम-आयन बैटरी लिथियम-आयन को हरा पाएगी? यह भविष्य बताएगा, लेकिन एक बात तो निश्चित है – सोडियम-आयन बैटरी का उदय हमें एक अधिक टिकाऊ और किफायती ऊर्जा भविष्य की ओर ले जाने का एक रोमांचक अवसर प्रदान करता है।

Must  Read  Upcoming Tata EV with Excellent features and range

इसे भी पढ़ें JAC मोटर्स द्वारा लॉन्च की गई YEEVA EV, सोडियम-आयन बैटरी से संचालित पहली इलेक्ट्रिक कार

इसे भी पढ़ें Bajaj Vector : EV’s क्रांति में बजाज ने मारी बाजी,अब Ola, Ather को 2024 में पटखनी देने की तैयारी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular